वर्ष 2022 में राम नवमी कब हैं | श्री राम नवमी क्यों मनाई जाती हैं | राम नवमी का महत्व और इतिहास | राम नवमी शुभ मुहूर्त और तिथि 2022

वर्ष 2022 में राम नवमी कब हैं | श्री राम नवमी क्यों मनाई जाती हैं | राम नवमी का महत्व और इतिहास | राम नवमी शुभ मुहूर्त और तिथि 2022

श्री राम नवमी कब हैं | राम नवमी पूजा मुहूर्त | राम नवमी पर निबंध हिंदी में | राम नवमी की कहानी हिंदी में | राम नवमी क्या हैं और कैसे मनाई जाती हैं

आज इस Article के द्वारा Ram Navmi Kab Hai, Ram Navmi Kyu Manaya Jata Hai in Hindi, राम नवमी पर कविता हिंदी में, राम नवमी निबंध हिंदी में, राम नवमी का इतिहास, Ram Navmi Essay In Hindi, राम नवमी पर 10 लाइन एवं राम नवमी की कथा हिंदी में के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे.

भारत विभिन्न धर्म एवं संस्कृतियों का देश हैं. जहाँ विभिन्न धर्मों की मान्यताओं के अनुसार अनेकों त्यौहार मनाये जाते हैं और यह त्यौहार सभी देशवासी आपसी प्रेम एवं सद्भाव के साथ पूरे हर्षोल्लास से मनाते हैं. उन्ही त्योहारों में से एक हैं राम नवमी का त्यौहार.

 

श्री राम नवमी त्यौहार 2022 हिंदी में - Ram Navmi Festival 2022 in Hindi

भारत त्योहारों और संस्कृतियों का देश हैं इसलिए देश में हर महीने कोई न कोई पर्व, त्यौहार मनाया जाता रहता हैं, ऐसा ही एक पावन पर्व हैं श्री राम नवमी.

राम नवमी भारत में मनाये जाने वाले त्योहारों में से एक प्रमुख पर्व हैं. राम नवमी पर्व हिन्दू धर्म का एक पावन त्यौहार हैं, विश्व के सभी देश जहाँ हिन्दू धर्म को मानने वाले निवास करते हैं बहुत ही उत्साह से मनाते हैं.

वैसे भारत में राम नवमी बहुत हर्षोल्लास से मनाया जाता हैं. वर्ष 2022 में राम नवमी कब हैं और राम नवमी क्यों मनाते हैं के बारें में इस लेख के द्वारा जानकारी प्राप्त करते हैं.

यह भी पढ़ें - बसंत पंचमी कब हैं और कैसे मनाई जाती हैं

 

राम नवमी क्या हैं - What is Ram Navmi in Hindi

सनातन धर्म में भगवान् श्री राम का विशेष महत्व हैं. पौराणिक कथाओं के अनुसार श्री राम नवमी के दिन अयोध्या नरेश राजा दशरथ की रानी कौशल्या ने मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम को जन्म दिया था.

त्रेता युग में लंकाधिपति रावण का अत्याचार बहुत बढ़ गया था, जिसे समाप्त करने और धर्म की स्थापना करने के लिए भगवान् विष्णु ने प्रभु श्री राम के रूप में तथा देवी लक्ष्मी ने माता सीता के रूप में अवतार लिया था.

इसी कारण हर वर्ष नवमी के दिन श्री राम जन्म दिवस को राम नवमी के नाम से बहुत ही उत्साह के साथ मनाया जाता हैं.

यह भी पढ़ें - होलिका दहन कब हैं और क्यों मनाया जाता हैं

 

राम नवमी कब मनाई जाती हैं - When is Ram Navmi celebrated in Hindi

हिन्दू धर्म में सभी त्योहार भारतीय हिंदी कैलेण्डर के अनुसार मनाये जाते हैं. राम नवमी पर्व प्रत्येक वर्ष चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को मनाया जाता हैं.

यह भी पढ़ें - होली कब हैं और क्यों मनाई जाती हैं

 

श्री राम नवमी 2022 कब हैं - When is Ram Navmi 2022 in Hindi

दिनांक 02 अप्रैल, 2022 दिन शनिवार को नवरात्रि की शुरुआत होगी तथा दिनांक 10 अप्रैल, 2022 दिन रविवार को नवरात्रि के नौवें दिन श्री राम जन्मोत्सव राम नवमी त्योहार मनाया जायेगा. इस प्रकार अंग्रेजी कैलेण्डर के अनुसार वर्ष 2022 में राम नवमी दिनांक 10 अप्रैल, 2022 दिन रविवार को मनाई जाएगी.

यह भी पढ़ें - गुरु रविदास का जीवन परिचय

 

श्री राम नवमी शुभ मुहूर्त कब हैं - Ram Navmi 2022 Shubh Muhurat Date & Time in India

वर्ष 2022 में राम नवमी शुभ मुहूर्त  प्रातः 11:06 से प्रारम्भ होगा और दोपहर 13:38 पर समाप्त होगा. राम नवमी 2022 का समय सिर्फ 02 घंटा 33 मिनट के लिए ही रहेगा.

यह भी पढ़ें - विश्व सामाजिक न्याय दिवस

 

राम नवमी क्यों मनाई जाती हैं - Why is Ram Navmi celebrated in Hindi

त्रेता युग में लंका के राजा रावण का तीनों लोकों पर अत्याचार बढ़ गया था जिसके कारण लोग  बहुत परेशान रहते थे.

रावण बहुत पराक्रमी और महाज्ञानी था इसके अलावा वह भगवान् शिव का परम भक्त भी था. रावण के अत्याचारों से मुक्ति दिलाने के लिए भगवान् विष्णु ने राम जी के रूप में अवतार लिया और रावण का वध करके तीनों लोकों को रावण के पाप, अत्याचारों से मुक्ति दिलाई थी.

चैत्र शुक्ल पक्ष नवमी के दिन प्रभु श्री राम जन्म दिवस को अयोध्या में उत्सव के रूप में मनाया गया था. तभी से भारत सहित अन्य देशों में हिन्दू धर्म में श्री राम जन्मोत्सव दिवस अथवा श्री राम नवमी त्योहार बहुत धूम धाम से मनाया जाता हैं.

यह भी पढ़ें - उत्तर प्रदेश कैबिनेट मंत्री सूची 2022 पीडीएफ

 

श्री राम नवमी की कहानी क्या हैं - What is the story of Ram Navmi in Hindi

राम नवमी पर्व की पौराणिक कथा के द्वारा राम नवमी का पौराणिक महत्व के बारें में पता चलता हैं.

 

श्री राम जन्म कथा - Shri Ram Birth Story in Hindi

त्रेता युग में अयोध्या के महाराजा दशरथ थे, जिनकी तीन पत्नियाँ कौशल्या, सुमित्रा एवं कैकयी थी. राजा दशरथ की एक शांता नाम की पुत्री थी जिसे उन्होंने गोद दे दिया था. इसके बहुत समय बाद तक राजा दशरथ को कोई भी संतान नहीं हो रही थी.

तब ऋषि वशिष्ठ ने राजा दशरथ को कमेष्ठि यज्ञ करने की आज्ञा दी. यज्ञ की समाप्ति के उपरान्त राजा दशरथ ने यज्ञ के प्रसाद खीर को अपनी तीनो रानियों को खिला दिया. प्रसाद ग्रहण करने के बाद तीनों रानियों ने पुत्रों को जन्म दिया.

रानी कौशल्या ने चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को पुनर्वसु नक्षत्र में प्रभु श्री राम को तथा रानी सुमित्रा एवं रानी कैकयी ने शत्रुघ्न, लक्ष्मण एवं भरत को जन्म दिया था.

यह भी पढ़ें - CTET Syllabus in Hindi PDF Download

 

राम नवमी कैसे मनाई जाती हैं - How is Ram Navmi celebrated in Hindi

श्री राम नवमी हिदू धर्म का एक बहुत पावन त्योहार हैं जिसे भगवान् श्री राम जन्मोत्सव दिवस के रूप में भी मनाया जाता हैं. चैत्र माह के नवरात्रि में माँ दुर्गा की पूजा अर्चना भी की जाती हैं और इसी नवरात्रि के नौवें दिन श्री राम नवमी का त्योहार भी मनाया जाता हैं.

श्री राम नवमी के दिन लोग घरों एवं मंदिरों की साफ़ सफाई करके सजावट करते हैं और प्रभु श्री राम के बाल रूप का शुभ मुहूर्त में दोपहर 12 बजे जन्म कराकर पूजा करते हैं. चैत्र नवरात्रि में बहुत लोग नौ दिन उपवास रखते हैं वह लोग श्री राम की पूजा करने के बाद अपने व्रत को खोलते हैं और माँ दुर्गा एवं भगवान् राम से खुशहाली, समृद्धि का आशीर्वाद की कामना करते हैं.

भारत के विभिन्न क्षेत्रों में राम नवमी पर्व अलग अलग तरीके से मनाया जाता हैं. राम नवमी के दिन दक्षिण भारत में भगवान् श्री राम और देवी सीता माँ के विवाह की सालगिरह के रूप में मनाया जाता हैं.

वाराणसी और अयोध्या के क्षेत्रों में लोग गंगा एवं सरयू जी में स्नान करके भगवान् राम की पूजा करते हैं और प्रभु श्री राम, माता सीता और हनुमान जी की भव्य रथयात्रा निकालते हैं.

कई स्थानों पर पंडालों में श्री राम की मूर्ति स्थापना करके उपासना की जाती हैं और राम रक्षा स्त्रोत, राम चरित मानस, राम बाण आदि का बहुत धूम धाम से पाठ किया जाता हैं.

यह भी पढ़ें - UPTET Syllabus in Hindi PDF Download

 

राम नवमी का महत्व - Significance of Ram Navmi in Hindi, Ram Navmi Importance in Hindi

सनातन धर्म में प्रत्येक हिन्दू त्योहार का एक विशिष्ट महत्व होता हैं. श्री राम नवमी का त्योहार मानव जाति की अत्याचारी, अधर्मी एवं बुरी ताकतों से रक्षा करने हेतु भगवान् श्री विष्णु के श्री राम जी के रूप में अवतार लेने के प्रतीक के रूप में मनाया जाता हैं.

इस दिन भगवान् श्री विष्णु जी ने पृथ्वी को रावण के अत्याचारों से मुक्ति दिलाने के लिए अवतार लिया था और रावण का वध करके राम राज्य की स्थापना की थी. राम नवमी के दिन नवरात्रि की अंतिम तिथि नवमी भी होती हैं इसलिए इस दिन का महत्व और बढ़ जाता हैं.

पौराणिक कथाओं के अनुसार गोस्वामी तुलसीदास जी रामनवमी के दिन से राम चरित मानस की रचना प्रारम्भ की थी.

यह भी पढ़ें - Global Hunger Index PDF

 

श्री राम नवमी में हनुमान जी की पूजा क्यों की जाती हैं - Why Hanuman ji is worshiped on Shri Ram Navami

भगवान् राम के जन्म के दिन हनुमान जी की पूजा क्यों होती हैं के पीछे एक प्रमुख कारण हैं कि हनुमान जी भक्त शिरोमणि थे.

वह भगवान् श्री राम के आज्ञाकारी परम भक्त थे और प्रभु राम को भी हनुमान जी अत्यंत प्रिय थे. भगवान् राम के मंदिर में हनुमान जी का भी स्थान होता हैं.

जहाँ जहाँ भी श्री राम जी का मंदिर हैं वहां पर हनुमान जी की मूर्ति अवश्य होती हैं इसके अलावा राम नवमी के दिन विशेष महावीरी ध्वजा भी लहराया जाता हैं.

यह भी पढ़ें - ICC T20 World Cup Schedule PDF

 

Ram Navmi FAQ - Ram Navmi frequently asked questions in Hindi

प्रश्न 1 - श्री राम का जन्म कब और कहाँ हुआ था?

उत्तर - श्री राम का जन्म चैत्र मास के शुक्लपक्ष की नवमी तिथि को पुनर्वसु नक्षत्र एवं कर्क लग्न में अयोध्या के राजा दशरथ की रानी कौशल्या से हुआ था.

प्रश्न 2 - वर्ष 2022 में चैत्र राम नवमी कब हैं?

उत्तर - वर्ष 2022 में चैत्र नवमी दिनांक 10-04-2022 को हैं.

प्रश्न 3 - चैत्र नवरात्रि कब से प्रारम्भ हो रही हैं?

उत्तर - चैत्र नवरात्रि 2 अप्रैल से शुरू हो रही हैं.

प्रश्न 4 - वर्ष 2023 में राम नवमी कब हैं?

उत्तर - वर्ष 2023 में श्री राम नवमी दिनांक 30-03-2023 दिन बृहस्पतिवार को हैं.

प्रश्न 5 - श्री राम नवमी क्यों मनाया जाता हैं?

उत्तर - भगवान् विष्णु के सातवें अवतार श्री राम जी के जन्म दिवस को राम नवमी के रूप में मनाया जाता हैं.

प्रश्न 6 - भगवान् श्री राम के कितने नाम हैं?

उत्तर - प्रभु श्री राम जी के 108 नाम हैं.

प्रश्न 7 - राम नवमी को श्री राम नवमी क्यों कहा जाता हैं?

उत्तर - इस दिन भगवान् विष्णु ने राम जी के अवतार में जन्म लिया था.

प्रश्न 8 - श्री राम कितने वर्ष जीवित रहे थे?

उत्तर - बाल्मीकि रामायण के अनुसार भगवान् श्री राम अयोध्या के 11000 वर्षों तक राजा थे.

प्रश्न 9 - राम नवमी वर्ष में दो बार क्यों मनाई जाती हैं?

उत्तर - राम नवमी एक बार भगवान् राम के जन्मदिवस के रूप में मनाई जाती हैं तथा दूसरी बार रावण का वध करने के बाद राम जी के अयोध्या वापसी के दिन को राम नवमी मनाई जाती हैं.

प्रश्न 10 - राम नवमी कितने देशों में मनाई जाती हैं?

उत्तर - विश्व के सभी देश जहाँ हिन्दू धर्म को मानने वाले निवास करते हैं श्री राम नवमी त्योहार मनाते हैं.

प्रश्न 11 - वर्ष 2023 में राम नवमी किस दिन व तारीख को हैं?

उत्तर - वर्ष 2023 में राम नवमी दिनांक 30 मार्च, 2023 दिन बृहस्पतिवार को हैं.

यह भी पढ़ें - SBI PO Syllabus in Hindi PDF Download

 

Conclusion

मुझे उम्मीद हैं कि आज के Article राम नवमी कब हैं और क्यों मनाते हैं in Hindi पसंद आया होगा.

आज के Article में आपने राम नवमी कब मनाई जाती है in Hindi, राम नवमी क्यों मनाया जाता हैं in Hindi, राम नवमी का इतिहास क्या हैं in Hindi, राम नवमी का महत्व in Hindi, राम नवमी की कथाएं in Hindi, राम नवमी पर निबंध हिंदी में, राम नवमी का वैज्ञानिक आधार, Ram Navmi Essay In Hindi, Ram Navmi Quotes in Hindi, Ram Navmi Status in Hindi, Ram Navmi Shayari in Hindi, Ram Navmi Poem in Hindi, Ram Navmi Images के बारें में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त की हैं.

यदि आपको What is Ram Navmi in Hindi Full Information के सम्बन्ध में कोई सुझाव देना हो तो Comment कीजिये एवं Article वर्ष 2022 में राम नवमी कब हैं in Hindi को अधिक से अधिक लोगों को Share कीजिये.

आप सभी पाठकगणों को श्री राम नवमी की हार्दिक शुभकामनाएं.

 

यह भी पढ़ें - UP Lekhpal Syllabus in Hindi PDF Download

यह भी पढ़ें - उत्तर प्रदेश में मृत सरकारी सेवकों के आश्रितों की भर्ती (बारहवाँ संशोधन) नियमावली, 2019 प्रख्यापित किये जाने के सम्बन्ध में नियुक्ति एवं कार्मिक विभाग अधिसूचना

यह भी पढ़ें - उत्तर प्रदेश सरकारी सेवक (चिकित्सा परिचर्या) (तृतीय संशोधन) नियमावली, 2021 प्रख्यापित किये जाने के सम्बन्ध में चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग अधिसूचना

 

Post a Comment

0 Comments